पहली बार बनस्पतिक भोजन आजमाने वालों की मदद कैसे करें
हमारे ऐसे दोस्त और परिचित हमेशा होंगे जो वनस्पतिक आहार आजमाना चाहते होंगे। देखिये उनके शाकाहारी जीवन के आरंभ में आप कैसे मदद कर सकते हैं।

1. उन्हें बधाई दें

यह सबसे स्पष्ट एवं आसान कदम है। उन्हें बताइये कि आप उनके लिये खुश हैं और किसी भी वक्त उनकी सहायता करने के लिये इच्छुक हैं। उनके निर्णय को किसी शाकाहारी भोजनालय में सेलिब्रेट कीजिये।

2. उन्हें  शाकाहार या  ChooseVeg के बारे में बतायें

शाकाहार या  ChooseVeg पर पोषण से संबंधित सूचना, व्यंजन-विधि से लेकर शाकाहार से संबंधित तमाम जानकारी उपलब्ध है। उन्हें मुफ़्त शाकाहारी स्टार्टर गाइड डाउनलोड करने के लिये प्रेरित कीजिये, जो उन्हें शाकाहारी जीवन में आगे बढ़ने में सहायक होता है।

3. उन्हें व्यंजन विधि भेजिये

यदि वे खाना बनाने में दिलचस्पी रखते हैं तो उन्हें शाकाहार या वनस्पतिक आहार के लिये लोकप्रिय ब्लाग जैसे VeganFirst, या Vegan Richa  या Veg Planet  से चुनकर व्यंजन-विधियाँ भेजिये। यदि वे रसोई में दिलचस्पी नहीं रखते हैं तो उन्हें शाकाहार  के मील प्लानिंग से अवगत करवायें जहाँ पर सप्ताह के सातों दिनों के लिये जल्दी एवं आसानी से बनने वाले व्यंजनों की सूची उपलब्ध है, जिससे उनको शाकाहार में क्या खायें की उलझन से निकलने में सहायता होगी।

4. उन्हें स्मरण दिलायें कि शाकाहार का संबंध शुद्ध अथवा संपूर्णहोने से नहीं है।

उन्हें बताइये कि शाकाहार का संबंध शुद्धता या पूर्णता से नहीं है और यदि वे गलती से या कुसंयोगवश अवनस्पतिक आहार खा लेते हैं तो, सिर पीटने की जरूरत नहीं है। उन्हें कहिये कि गलती हो जाती है... लेकिन वे फिर से शुरु कर सकते हैं।आखिरकार उनका उद्देश्य है पशुओं के प्रति दुर्व्यवहार को कम करना।

5. समय-समय पर देखते रहें।

उनसे नियमित संपर्क रखें और अक्सर (कब और कितनी बार यह उनकी स्थिति और व्यक्तित्व पर निर्भर करता है) देखते रहें, उनसे पूछें कि उनका शाकाहारी जीवन मजे में चल रहा है, न? उन्हें प्रेरित करने के लिये आप अपने कुछ भोजनों की तस्वीर उन्हें व्हाट्सऐप से भेज सकते हैं।

6. इसे जरूरत से ज़्यादा भी न होने दें।

आप यथासंभव पर्दे के पीछे ही रहिये... और उन्हें बताइये कि आप उनसे महज एक कॉल दूर हैं। जब भी जरूरत हो आप उपलब्ध हैं। ठीक है कि आप किसी को मदद के लिये उत्साहित रहते हैं, लेकिन उन्हें वो भारी-भरकम पीडीएफ़ फ़ाइल, या कोई उत्साहवर्द्धक किताब अथवा सद्यःप्रकाशित आलेख या हर चीज जो कुछ भी आपको मिलता है, उन्हें भेजने से परहेज कीजिये।

7. संबंधों को सुदृढ़ एवं सकारात्मक रखें

यथासंभव सकारात्मक प्रश्न ही पूछें... जैसे कि इस हफ़्ते आपने कौन-सा वनस्पतिक व्यंजन आपको सबसे ज़्यादा पसंद आया? इस से उस लज़ीज व्यंजन का स्वाद उनके लिये फिर से ताज़ा हो जायेगा और उन्हें अपना नया आहार और अधिक सकारात्मकता के साथ शुरु करने व उसे जारी रखने में मदद मिलेगी।

8. उन्हें शाकाहारियों के ग्रुप से जुड़ने में मदद करें

उन्हें शाकाहारी ग्रुपों और आयोजनों से जोड़ना अच्छा रहेगा। इससे उन्हें बहुत अधिक समर्थन एवं मार्गदर्शन मिलेगा।

9. अपनी कहानी बताइये

अपनी सफलता और असफलता उन्हें बताने से उन्हें उनके निर्णय पर अडिग रहने में सहायता मिलेगी। कहानियों के अतिरिक्त, आपके ऊपर शाकाहार के प्रभावों के बारे में भी उन्हें बताइये। याद रहे, अपनी कहानी उन्हें बताना है, प्रवचण करने की जरूरत नहीं है।

10. उन्हें संबंधित किताब और फ़िल्में देखने की सलाह दें।

जैसे जैसे वे अपनी नयी यात्रा में आगे बढ़ते हैं, उन्हें कुछ किताबें पढ़ने और फ़िल्में देखने की सलाह दें जिससे न केवल उनके अनेक प्रश्नों के उत्तर मिल जायेगा बल्कि भविष्य के लिये प्रेरण भी मिलेगी।

11. सेलिब्रेट, सेलिब्रेट, सेलिब्रेट ।

हर छोटे-बड़े यादगार लमहों को सेलिब्रेट कीजिये - पहला सप्ताह, एक महीना, एक वर्ष....और इस तरह उन्हें अपनी यात्रा जारी रखने के लिये प्रोत्साहित करते रहिये। सेलिब्रेशन से उन्हें अच्छा लगेगा और आगे बढ़ने की प्रेरणा भी मिलेगी।

12. धैर्य रखें... धीरे-धीरे छोड़ना भी ठीक है।

यदि कोई शुरु-शुरु में मांसाहार कम करता है या डेयरी उत्पादों का परित्याग करता है तो उन्हें प्रोत्साहित कीजिये। पशु उत्पादों के आशिंक परित्याग से भी पशु-अत्याचार में कमी आयेगी और वे धीरे-धीरे शाकाहार की ओर बढ़ते भी जायेंगे।

मुफ़्त शाकाहारी स्टार्टर गाइड के लिये साइन-अप करने पर उन्हें ई-मेल की शृंखला भी मिलेगी जिससे वे शाकाहार से संबंधित अमूल्य परामर्श, प्रोत्साहन और समर्थन प्राप्त कर सकते हैं।
व्यंजनों, नए उत्पाद टिप्स, और बहुत कुछ के साथ सूचित रहें
और शाकाहारी समाचार