सूअर बुद्धिमान और संवेदनशील हैं, तो आप उन्हें क्यों खा रहे हैं ?!
एक तरफ़ बहुत से लोग अपने पालतू कुत्ते और बिल्लियों को अपने परिवार का प्यारा सदस्य मानते हैं तो दूसरी तरफ़ कुछ लोग सूअर जैसे समान रूप से प्यारे पशुओं को खाते हैं।

ये रहे कुछ कारण जो बताते हैं कि सूअर और किसी अन्य पशुओं का मांस खाने में कोई वास्तविक अंतर नहीं है।

सूअर बुद्धिमान होते हैं:

वास्तव में सूअरों को विश्व में पांचवां सबसे बुद्धिमान पशु माना जाता है। ये कुत्तों की तुलना में अधिक बुद्धिमान और चिम्पान्ज़ी (वनमानुष) की तुलना में अधिक ध्यान और सफलता के साथ वीडियो गेम खेलने में सक्षम हैं!

उनके पास उत्कृष्ट वस्तु-स्थान स्मरण शक्ति भी होती है। यदि वे एक स्थान पर गड़बड़ी पाते हैं, तो अगली बार वे उसे देखना याद रखते हैं। सूअरों के पास उत्कृष्ट दिशा-बोध भी होता है। वे बहुत दूर से अपने घर को ढूंढ सकते हैं।

महज पिछले साल ही, एमी नाम के एक पांच महीने के सुअर को ‘श्वानीय चपलता वर्ग’ में "शीर्ष श्वान" करार दिया गया था। यहाँ पढ़िए एमी की कहानी।

वे दर्द महसूस करते हैं और उन्हें कष्ट होता है:

सूअर संवेदनशील प्राणी हैं, जो आनन्द, अकेलापन, हताशा, डर और दर्द का अनुभव करते हैं। ये भी उन्हीं पशुओं के समान हैं जिनके साथ हम में से कई लोग अपना जीवन साझा करते हैं।

इसके बावजूद, ज्यादातर सूअरों को क्रूर फ़ैक्ट्री फ़ार्मों पर रखा जाता है। गर्भवती मादा सूअरों को कठोर धातु के पिंजरों में क़ैद रखा जाता है। ये पिंजरे इतने छोटे होते हैं कि बेचारी मादा सूअर इसमें घूमने में भी असमर्थ होती हैं। बिना किसी दर्दनाशक दवा के सूअरों का बधियाकरण किया जाता है। बीमार सूअर शावकों को कंक्रीट के फ़र्श पर सर के बल पटककर मार दिया जाता है।

आप स्वयं देख लीजिए:


यह विचारणीय है:

"कुछ पशुओं को प्यार और कुछ पशुओं का आहार"! इसमें एक स्पष्ट विरोधाभास है।

लेकिन जो पशु-क्रूरता का विरोध करते हैं, वे अक्सर अपने आहार की आदतों को सही ठहराने के तरीके ढूंढते रहते हैं। इसमें आमतौर पर इस विचार का आश्रय लेते है कि स्वास्थ्य के लिए मांस खाना आवश्यक है। हालांकि विज्ञान स्पष्ट है। हम मांस या अन्य पशु-उत्पादों को खाए के बिना भी सुखी एवं स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

-

जब जानवरों की बात आती है, तो उन दोनों के बीच एकमात्र सार्थक अंतर होता है, एक जो हमारे साथ रहते हैं और एक जिन्हें हम खाते हैं और इन दोनों के प्रति हमारा व्यवहार।

हम अपनी थालियों से इन बुद्धिमान एवं संवेदनशील जीवों को हटाकर दया और करुणा के हमारे मूल्यों पर जी सकते हैं।

अपना मुफ्त शाकाहारी स्टार्टर गाइड के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।
व्यंजनों, नए उत्पाद टिप्स, और बहुत कुछ के साथ सूचित रहें
और शाकाहारी समाचार