बैल को हुई कत्ल की आहट! जान बचाकर भागा!!
कुछ ही दिन पहले स्कोहेगेन, माइने में एक विशालकाय बैल कत्लखाना ले जाने के रास्ते में गाड़ी से कूदकर भाग गया। वह 90 मिनट तक लोगों के आने-जाने के रास्ते में दौड़ता रहा और पुलिस को दौड़ाता रहा। फिर वह अपनी जान बचाने के लिए केनेबिक नदी तैर कर जंगल में चला गया।


Contributed photo

दुर्भाग्यवश, जब वह नदी की ढ़ाल पर लड़खड़ाता हुआ, सड़क की तरफ़ आने लगा तो पुलिस चीफ़ डैविड बुकमैन ने बेचारे जानवर को गोली मार दिया। बेजान बैल वापस नदी में लुढक गया और पानी में बहता चला गया।

पुलिस चीफ़ बुकमैन ने मोर्निंग सेन्टिनेल से कहा:

लगता है कि इसे कत्लखाना ले जा रहा था और मुझे यकीन है कि उसे यह बात मालूम थी। वह इससे बचने के लिए भागा। जब वह किनारे पर आया मैं ने इसे गिरा दिया। दुर्भाग्यवश, किनारे पर रुकने के बदले वह वापस नदी की ओर फिसल गया।

यह हृदयविदारक है कि अपनी जान बचाने की जीतोड़ कोशिश करने के बावजूद यह निरीह प्राणी मारा गया। अनगिनत फ़ार्म्ड पशु अपने क्रूर भाग्य से बचने के लिए बेतहाशा कोशिश करते रहते हैं। पिछले महीने पोलैंड में एक गाय, हत्या से बचने के लिए धातु के तारों का घेरा फाँद कर, मजदूर का हाथ तोड़ कर नदी तैर कर भाग गयी थी।

हर साल करोड़ों गाय, सूअर, मुर्गे-मुर्गी और मछलियों को खाने के लिए निर्दयतापूर्वक मार दिया जाता है। खाने के लिए पाले जाने वाले पशु भी हमारे प्यारे कुत्ते और बिल्लियों की तरह ही संवेदनशील एवं समझदार होते हैं फिर भी उन्हें अकल्पनीय क्रूरता का शिकार होना पड़ता है। गंदे हालात, बर्बर अंगभंग और कठोर कैद में पीड़ित जीवन।


हमने पहले भी कहा है और फिर कहते हैं: कोई भी पशु आपका भोजन बनने के लिए मरना नहीं चाहता।

अगर यह कहानी आपको परेशान करती है लेकिन अभी तक आप मांसाहार को ना नहीं कह चुके हैं तो समय आ गया है कि आप अपने आहार-विहार को अपने वैचारिक मूल्यों के अनुरूप बनाइए। दया का मार्ग चुनिए और गाय समेत अन्य सभी पशुओं को अपनी थाली से दूर कीजिए। शुरु करने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए। हजारों सुस्वादु शाकाहारी व्यंजन-विधियों के लिए हमारा पिन्टेरेस्ट पेज देखिए।
व्यंजनों, नए उत्पाद टिप्स, और बहुत कुछ के साथ सूचित रहें
और शाकाहारी समाचार